Homeछत्तीसगढ़ को प्राप्त राष्ट्रीय पुरस्कार

Secondary links

Search

छत्तीसगढ़ को प्राप्त राष्ट्रीय पुरस्कार

(कृपया फोटो गैलरी भी देखे) Click here...

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2017

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय ई-गवर्नेस पुरस्कार : मुख्यमंत्री ने दी बधाई :18 -01- 2017

कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अजय सिंह और विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एस.के. पाटिल ने मुख्यमंत्री से आज सवेरे यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में सौजन्य मुलाकात कर उन्हें विश्वविद्यालय की इस उपलब्धि की जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि विशाखापटनम (आन्ध्र प्रदेश) में आयोजित 20 वीं नेशनल कान्फ्रेंस ऑन ई-गर्वनेंस सेमीनार में केन्द्रीय इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी, राज्य मंत्री श्री पी.पी. चौधरी ने विश्वविद्यालय को प्रदान किया गया।

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के लिए छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले को नई दिल्ली में राष्ट्रीय पुरस्कार : 24-01-2017

केन्द्र सरकार द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना में प्रभावी समुदाय भागीदारी के लिए छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले को आज नई दिल्ली में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी के हाथों कलेक्टर रायगढ़ श्रीमती अलरमेल मंगई डी ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

कृषि विज्ञान केन्द्र कांकेर को उत्कृष्ट कार्यों के लिए फिर एक बार मिला राष्ट्रीय पुरस्कार : 03-02-2017

छत्तीसगढ़ के नक्सल हिंसा पीड़ित आदिवासी बहुल कांकेर जिले के मुख्यालय कांकेर में संचालित कृषि विज्ञान केन्द्र को उत्कृष्ट कार्यो के लिए एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार मिला है। यह केन्द्र अच्छे कार्यो के लिए विगत चार सालों में तीन बार राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार जीत चुका है। केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री राधामोहन सिंह ने कल नई दिल्ली में महेन्द्रा समृद्धि नई दिल्ली द्वारा आयोजित समारोह में कृषि विज्ञान केन्द्र कांकेर को सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केन्द्र के पुरस्कार से नवाजा। इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्रीद्वय श्री सुदर्शन भगत एवं श्री पुरूषोत्तम रूपाला भी उपस्थित थे।

 इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय को मिला इंस्टीट्यूशन ऑफ एक्सीलेंस अवार्ड: 22-02-2017

यह पुरस्कार विश्वविद्यालय को कृषि शिक्षा तथा कृषि छात्रों के सशक्तिकरण से संबंधित उल्लेखनीय कार्यों के लिए मिला है। केन्द्रीय खाद्य राज्यमंत्री श्री सी.आर. चौधरी ने कर्नाटक के रायचूर में ऑल इंडिया एग्रीकल्चर स्टूडेन्ट्स एसोसिएशन एवं यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर साईंस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार प्रदान किया। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय ने देश के 72 कृषि विश्वविद्यालयों में द्वितीय स्थान प्राप्त कर ‘इंस्टीट्यूशन ऑफ एक्सीलेंस अवार्ड’ जीता है।

 

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2016

छत्तीसगढ़ को मनरेगा में मिला राष्ट्रीय पुरस्कार -02-02-2016

केन्द्र सरकार ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में उत्कृष्ट कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया है । आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित महात्मा गांधी नरेगा सम्मेलन में विभिन्न राज्यों द्वारा नरेगा के तहत किये गये उत्कृष्ट कायों की प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ सरकार को इस पुरस्कार से नवाजा गया।
केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री राव वीरेन्द्र सिंह के हाथों छत्तीसगढ़ के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री पी.सी.मिश्रा और नोडल अधिकारी श्री सुभाष मिश्रा ने राज्य सरकार के लिए यह पुरस्कार ग्रहण किया। सम्मेलन में बलरामपुर-रामानुजगंज जिले की पाढ़ी ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती सुषमा मिंज को मनरेगा में सकारात्मक कार्य करने के लिए भी पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।

मनरेगा के तहत राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कारों से अलंकृत हुआ धमतरी जिला-02-02-2016

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना के तहत धमतरी जिले को राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कारों से एक बार फिर नवाजा गया है। मंगलवार दो फरवरी को ये पुरस्कार केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह के हाथों प्रदाय किए गए। जिले को पहला पुरस्कार मनरेगा के अंतर्गत किए गए नवाचार का प्रदर्शन उत्कृष्ट प्रादर्श (बेस्ट मॉडल) के लिए शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भटगांव के परिसर में विकसित ज्ञानवर्धक गार्डन को तथा दूसरा पुरस्कार डाकघर के माध्यम से मजदूरी का श्रेष्ठ भुगतान व वितरण के लिए भटगांव डाकघर के डाकसेवक श्री गजाधर सिन्हा को प्रदान किया गया।

छत्तीसगढ़ गृहनिर्माण मंडल पुनः राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित : 10-02-2016

छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को फिर से एक बार राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया हैं। आज नई दिल्ली के हॉटल ली-मेरेडियन में एसोचेम द्वारा स्मार्ट सिटी-स्मार्ट इंडिया विषय पर आयेाजित ग्लोबल पार्टनशिप समीट के अवसर पर छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को सस्ते दर पर आवास उपलब्ध कराये जाने की दिशा में उसके प्रयासों को बेस्ट हाऊसिंग बोर्ड के पुरस्कार से नवाजा गया है। यह पुरस्कार आज केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी व केन्द्रीय वन मंत्री श्री प्रकाश जावडे़कर के हाथों छत्तीसगढ़ के आवास- पर्यावरण एवं लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी व आयुक्त श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने संयुक्त रूप से ग्रहण किया।

 

पांच वर्ष में चौथी बार राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़ : 19-03-2016

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ को दलहन उत्पादन में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रधानमंत्री के हाथों दो करोड़ रूपए का यह पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र ग्रहण किया। खेती-किसानी के क्षेत्र में विगत लगभग पांच वर्ष में राज्य को केन्द्र सरकार से चौथी बार यह प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। प्रदेश को विगत तीन कृषि कर्मण पुरस्कार चावल उत्पादन के लिए प्राप्त हुए हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने दलहन उत्पादन में राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार मिलने पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल सहित प्रदेश के किसानों को बधाई दी। पुरस्कार समारोह में केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री राधा मोहन सिंह और छत्तीसगढ़ के कृषि और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री के हाथों सम्मानित हुआ बलरामपुर-रामानुजगंज जिला : 21-04-2016

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज छत्तीसगढ़ के बलरामपुर-रामानुजगंज जिला प्रशासन को मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड योजना के सर्वश्रेष्ठ क्रियान्वयन के लिए लोक प्रशासन में उत्कृष्टता पुरस्कार से सम्मानित किया। नई दिल्ली के विज्ञान भवन में सिविल सेवा दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री के हाथों बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण और जिले के कृषि अधिकारी श्री एम.के.प्रसाद ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

राष्ट्रीय पुरस्कार से फिर सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल : 25-04-2016

राज्य सरकार के उपक्रम छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को एक बार फिर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस बार आवास निर्माण में नवाचार के प्रयोग पर मंडल को उत्कृष्टता पुरस्कार से नवाजा गया है। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वैकैया नायडू ने आज नई दिल्ली के भारत पर्यावास भवन में आयोजित आवास  एवं शहरी विकास निगम (हुडको) के 46 वें स्थापना दिवस पर छत्तीसगढ़ गृह निर्माण को इस पुरस्कार से सम्मानित किया। गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी और आयुक्त श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने श्री नायडू के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया।

 

 दंतेवाड़ा और कांकेर कृषि विज्ञान केंद्र को राष्ट्रीय पुरस्कार : 23-07-2016

कृषि वैज्ञानिक केन्द्र दंतेवाड़ा को देश के सर्वश्रेष्ठ कृषि विज्ञान केंद्र का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। इसी प्रकार कृषि विज्ञान केंद्र कांकेर  को अटल राष्ट्रीय कृषि विज्ञान प्रोत्साहन पुरस्कार दिया गया है।

 

साक्षरता अभियान में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए छत्तीसगढ़ को देश के सर्वश्रेष्ठ राज्य और सरगुजा को सर्वश्रेष्ठ जिले का पुरस्कार : 08-09-2016

देश में साक्षरता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए छत्तीसगढ़ को फिर से साक्षरता के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में अंतराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में साक्षरता के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ राज्य का यह पुरस्कार राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के हाथों छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप और संचालक राज्य साक्षरता मिशन सुश्री जेनिवीवा किंडो  ने प्राप्त किया।  देश में  सर्वश्रेष्ठ जिले का पुरस्कार सरगुजा जिले के कलेक्टर श्री भीम सिंह व जिला लोक शिक्षा परियोजना अधिकारी श्री गिरीश कुमार गुप्ता ने ग्रहण किया। साक्षरता अभियान में अकादमिक समर्थन देने वाली संस्था राज्य संसाधन केन्द्र रायपुर को भी पुरस्कृत किया गया है।

अमृत मिशन के तहत नगरीय प्रशासन - विकास विभाग हुआ सम्मानित : 30-09-2016

छत्तीसगढ़ सरकार के नगरीय प्रशासन और विकास विभाग को शहरी विकास के लिए नगर निगम क्षेत्रों में संचालित अमृत मिशन में सर्वश्रेष्ठ कार्यों के लिए तेरह करोड़ रूपए का पुरस्कार मिला। नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की उपस्थिति में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू के हाथों प्रदेश के नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ सरकार के निःशक्तजन वित्त एवं विकास निगम को और राज्य के बिलासपुर जिले को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया | 3-12-2016

केन्द्र सरकार से लगातार मिल रहे राष्ट्रीय पुरस्कारों की श्रंृखला में छत्तीसगढ़ के खजाने में आज दो और पुरस्कार शामिल हो गए। राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने अंतर्राष्ट्रीय निःशक्तजन दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ सरकार के निःशक्तजन वित्त एवं विकास निगम को और राज्य के बिलासपुर जिले को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू और सचिव श्री सोनमणि बोरा ने निःशक्तजन वित्त एवं विकास निगम के लिए और कलेक्टर बिलासपुर श्री पी. अनबलगन ने अपने जिले के लिए राष्ट्रपति के हाथों इन पुरस्कारों को ग्रहण किया।
 छत्तीसगढ़ प्रदेश को यह राष्ट्रीय पुरस्कार दिव्यांगजनों के सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण से संबंधित योजनाओं में बेहतर प्रदर्शन के लिए दिया गया।

 

राष्ट्रपति के हाथों स्कूल शिक्षा मंत्री श्री कश्यप ने ग्रहण किया पुरस्कार : भारत स्काउट्स गाईड्स छत्तीसगढ़ को सिल्वर एलीफेंट अवार्ड : 05-12-2016

राष्ट्रपति श्री प्रवण मुखर्जी ने आज नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ के भारत स्काउट भारत स्काउट्स एवं गाइड्स संगठन को सिल्वर एलीफेंट राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री और भारत स्काउट्स गाईड्स की राज्य इकाई के अध्यक्ष श्री केदार कश्यप ने राष्ट्रपति केे हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया। यह पुरस्कार भारत स्काउट्स गाईड्स संगठन द्वारा स्कूली छात्र-छात्राओं को वृक्षारोपण, पर्यावरण संरक्षण, स्वच्छ भारत मिशन जैसे रचनात्मक कार्यों को जोड़ने एवं सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।

 

 

 

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2015


गुजरात में सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़ : छत्तीसगढ़ की भौगोलिक सूचना प्रणाली को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 30 जनवरी 2015/केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ की भौगोलिक सूचना प्रणाली को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया है। गुजरात की मुख्यमंत्री श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज भारत सरकार द्वारा गांधी नगर में आयोजित ई-गवर्नेंस की राष्ट्रीय कार्यशाला में छत्तीसगढ़ को वर्ष 2014-15 के लिए भौगोलिक सूचना प्रणाली के अभिनव प्रयोजन श्रेणी में राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस अवार्ड - गोल्ड प्रदान किया। छत्तीसगढ़ सरकार के प्रमुख सचिव सूचना प्रौद्योगिकी श्री अमन कुमार सिंह ने गुजरात की मुख्यमंत्री के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया। उल्लेखनीय है कि इस शानदार उपलब्धि के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वयं ट्वीट कर छत्तीसगढ़ सहित सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रभारी डॉ. रमन सिंह ने राज्य के लिए इसे अत्यंत गौरवशाली दिवस बताया और इस पुरस्कार के लिए सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव सहित समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों और प्रदेशवासियों को बधाई दी है। राष्ट्रीय कार्यशाला में छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) के उपाध्यक्ष श्री ए. एम. परियल भी उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ को मनरेगा में तीन राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, दो फरवरी 2015/ महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के दसवें स्थापना दिवस के अवसर पर दो फरवरी 2015 को नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ को इस योजना में तीन राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। योजना के तहत वर्ष 2013-14 के सर्वश्रेष्ठ रोजगारमूलक कार्यों के लिए इनमें से दो पुरस्कार राज्य के नक्सल हिंसा पीड़ित दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा) और नारायणपुर जिले को दिए गए। रायपुर जिले की ग्राम पंचायत फरफौद को भी पुरस्कृत किया गया। विज्ञान भवन में आयोजित मनरेगा स्थापना दिवस समारोह में केन्द्रीय पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री चौधरी वीरेन्द्र सिंह ने दंतेवाड़ा और नारायणपुर जिलों को तथा ग्राम पंचायत फरफौद को पुरस्कार वितरित किए। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री एम.के.राउत, सचिव श्री पी.सी.मिश्रा, कलेक्टर दंतेवाड़ा श्री के.सी.देवसेनापति, जिला पंचायत नारायणपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री दीपक सोनी, मनरेगा के राज्य अपर आयुक्त श्री यशवंत कुमार और ग्राम पंचायत फरफौद के सरपंच श्री हिम्मत सिंह चन्द्राकर भी उपस्थित थे।

अक्षय ऊर्जा : प्रधानमंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 15 फरवरी 2015/ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज सवेरे नईदिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ को अक्षय ऊर्जा (सौर ऊर्जा) के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में कार्यरत निवेशकों के विश्वस्तरीय सम्मेलन (रि-इन्वेस्ट) में प्रधानमंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ सरकार के प्रमुख सचिव (ऊर्जा) श्री अमन कुमार सिंह ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने छत्तीसगढ़ को नवाजा राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से

रायपुर, 19 फरवरी 2015/ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजस्थान के श्रीगंगा नगर में आयोजित समारोह में चावल उत्पादन में सर्वश्रेष्ठ उपलब्धि के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने समारोह में प्रधानमंत्री के हाथों यह पुरस्कार प्राप्त किया। चावल उत्पादन में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए केन्द्र सरकार की ओर से छत्तीसगढ़ को विगत चार वर्षों में तीसरी बार राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से नवाजा गया है।

प्रधानमंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ को मिला ई-पंचायत का राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 24 अप्रैल 2015 / राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ को ई-पंचायत के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। प्रधानमंत्री के हाथों यह प्रतिष्ठित पुरस्कार छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने ग्रहण किया।


नया रायपुर को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 27 अप्रैल 2015 / केन्द्र सरकार के सार्वजनिक उपक्रम आवास एवं शहरी विकास निगम (हुडको) ने छत्तीसगढ़ सरकार की नया रायपुर विकास परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया है। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री एम. वैंकेया नायडू के हाथों आज राज्य आवास और पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत ने नई दिल्ली में आयोजित समारोह में यह पुरस्कार ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ के शहीद गुण्डाधूर कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र जगदलपुर को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला

रायपुर, 30 अप्रैल 2015 / छत्तीसगढ़ के शहीद गुण्डाधूर कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र जगदलपुर को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा लघु कंदवर्गीय फसलों जैसे तिखुर, केउकंद, डांगकांदा, बैचांदी और बरहाकांदा से संबंधित अनुसंधान एवं प्रदर्शन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए जगदलपुर के इस केन्द्र को ‘उत्कृष्ट केन्द्र पुरस्कार 2015’ से सम्मानित किया गया है।

गौरेला सहकारी विपणन समिति को ‘सहकारिता उत्कृष्टता अवार्ड’

रायपुर 05 मई 2015/ गौरेला सहकारी विपणन समिति को सहकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए केन्द्रीय कृषि मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम, नई दिल्ली द्वारा ‘सहकारिता उत्कृष्ट अवार्ड 2014’ से सम्मनित किया गया है। केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री मोहन भाई कल्याण भाई कंुदरिया द्वारा पिछले माह की 29 तारीख को नई दिल्ली में आयोजित समारोह में यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

छत्तीसगढ़ के कृषि विज्ञान केन्द्र को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 30 जुलाई 2015 / केन्द्रीय कृषि मंत्रालय से सम्बद्ध भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया है। यह  पुरस्कार वर्ष 2014 के लिए उत्कृष्ट कार्यों पर प्रदान किया गया है। कृषि विज्ञान केन्द्र अम्बिकापुर का संचालन राजधानी स्थित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है।
 केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री राधामोहन सिंह ने बिहार की राजधानी पटना में आयोजित कृषि विज्ञान केन्द्रों की दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी में अम्बिकापुर के कृषि विज्ञान केन्द्र को जोन-7 के अंतर्गत उत्कृष्ट कृषि विज्ञान केन्द्र पुरस्कार 2014 से सम्मानित किया। समारोह का आयोजन पटना के श्रीकृष्णा मेमोरियल हाल में 25-26 जुलाई 2015 को किया गया। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील, आंचलिक परियोजना निदेशालय, जोन-7 के निदेशक डॉ. अनुपम मिश्रा, निदेशक विस्तार सेवाएं डॉ. एम.बी. ठाकुर तथा कृषि विज्ञान केन्द्र अंबिकापुर के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. आरके मिश्रा ने पुरस्कार ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ के दो श्रेष्ठ बुनकरों को प्रधानमंत्री ने किया पुरस्कृत

रायपुर, 07 अगस्त 2015/ राष्ट्रीय हाथकरघा दिवस के अवसर पर आज चेन्नई में आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के श्रेष्ठ हाथ बुनकरों को पुरस्कृत किया। इनमें छत्तीसगढ़ के भी दो बुनकर शामिल हैं। इस महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और ग्रामोद्योग मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले ने बुनकरों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। प्रधानमंत्री ने जांजगीर-चाम्पा जिले के ग्राम केरा निवासी श्री भोजराज देवांगन को बस्तर साड़ी आर्ट के लिए वर्ष 2014 के लिए डेढ़ लाख रूपए नगद और ताम्रपत्र से सम्मानित किया। उन्होंने चन्द्रपुर के श्री मुन्नालाल देवांगन को 2013 के लिए राष्ट्रीय मेरिट अवार्ड के रूप में एक लाख रूपए नगद, अंगवस्त्र तथा ताम्रपत्र से पुरस्कृत किया।

छत्तीसगढ़ को साक्षरता में लगातार 5वें वर्ष राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 08 सितम्बर 2015 / साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत छत्तीसगढ़ को साक्षरता के क्षेत्र में लगातार 5वें वर्ष भी राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में बस्तर जिले को साक्षर भारत राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया। उन्होंने इस मौके पर छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले की ग्राम पंचायत गिरौद (विकासखण्ड धरसींवा) को भी साक्षर भारत राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा। इस अवसर पर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी और राज्य मंत्री श्री उपेन्द्र कुशवाहा भी उपस्थित थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप ने आज इन उपलब्धियों के लिए बस्तर जिले की जनता को और ग्राम पंचायत गिरौद के लोगों को एक बार फिर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी।
राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी के हाथों बस्तर जिले के लिए यह पुरस्कार वहां के कलेक्टर श्री अमित कटारिया ने और ग्राम पंचायत गिरौद का पुरस्कार वहां के संरपच श्री चन्द्रकुमार नायक ने ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को ‘बेस्ट ई.डब्ल्यू.एस. डेव्हलपर्स’ का राष्ट्रीय सम्मान

रायपुर, 16 सितम्बर 2015 / छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की आवासीय आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए ‘बेस्ट ई.डब्ल्यू.एस. डेव्हलपर्स’ के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। यह पुरस्कार आज केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री एम. वेंकैया नायडू ने नई दिल्ली में एसोचेम द्वारा एक होटल में आयोजित ‘’ हाऊसिंग फार आल ’’ शिखर सम्मेलन सह उत्कृष्टता पुरस्कार कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी व आयुक्त श्री सिद्धार्थ कोमल परदेसी को प्रदान किया।

छत्तीसगढ़ को मिला प्रतिष्ठित एग्रीकल्चर लीडरशिप अवार्ड

रायपुर, 19 सितम्बर 2015/ छत्तीसगढ़ को कृषि के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति के लिए प्रतिष्ठित एग्रीकल्चर लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित किया गया है। नई दिल्ली में हुए एक गरिमामय समारोह में छत्तीसगढ़ के कृृषि मंत्री श्री बृृजमोहन अग्रवाल ने केन्द्रीय गृृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह से यह अवार्ड प्राप्त किया। छत्तीसगढ़ को यह अवार्ड खेती-किसानी की बेहतरी के लिए राज्य सरकार द्वारा किए गए सार्थक प्रयासों के लिए प्रदान किया गया है

रायपुर विमानतल को राष्ट्रीय पर्यटन अवार्ड

रायपुर, 20 सितंबर 2015/ स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट रायपुर को लगातार दूसरी बार बेस्ट एयरपोर्ट का अवार्ड मिला है। इसके पहले वर्ष 2013 में भी यह अवार्ड मिला था। राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में केन्द्रीय पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित समारोह में गत 18 सितम्बर को यह अवार्ड प्रदान किया। स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट रायपुर के निदेशक संतोष धोके ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

आर्थिक क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए मिला छत्तीसगढ़ को इवोल्विंग इकोनोमी अवार्ड

रायपुर, एक अक्टूबर 2015/  आर्थिक क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए छत्तीसगढ़ को प्रतिष्ठित आर्थिक समाचार पत्र मिंट द्वारा पुरस्कृत किया गया है। छत्तीसगढ़ को यह पुरस्कार इवोल्विंग इकोनोमी वर्ग में प्रदान किया गया है। नई दिल्ली में आयोजित एक गरिमामय समारोह में मिंट समाचार पत्र के प्रधान संपादक श्री एस सुकुमार से छत्तीसगढ़ के पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

 

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में छत्तीसगढ़ ने लहराया परचम : राज्य के पेवेलियन को मिला विशेष राष्ट्रीय पुरस्कार-27-11-2015

केन्द्रीय वित्त और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अरूण जेटली ने आज नई दिल्ली में भारत के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले के समापन समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य के पेवेलियन को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया। एक पखवाड़े तक चले इस मेले में पेवेलियन का निर्माण और संचालन छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) द्वारा किया गया था। समापन समारोह में  केन्द्रीय मंत्री श्री अरूण जेटली के हाथों सीएसआईडीसी के प्रबंध संचालक श्री सुनील मिश्रा ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

 

छत्तीसगढ़ की सिटी बस परियोजना को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार-27-11-2015

केन्द्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री श्री बाबुल सुप्रियो ने नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ की समूह (क्लस्टर) आधारित सिटी बस परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने श्री सुप्रियो के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ को यह राष्ट्रीय पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ सिटी बस सेवाओं की श्रेणी में दिया गया है।

छत्तीसगढ़ की बालिकाओं ने संगीत विधा में राष्ट्रीय स्तर पर द्वितीय पुरस्कार हासिल की -12-12-2015

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कल 11 दिसंबर को छत्तीसगढ़ की बालिकाओं को संगीत विधा में द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया। हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में कला को बढावा देने के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्तर पर नई दिल्ली मेें बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं विषय पर नाट्य कला, संगीत, नृत्य एवं दृश्य कला की प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। छत्तीसगढ़ की बालिकाओं ने संगीत विधा में द्वितीय पुरस्कार हासिल की। स्कूल शिक्षामंत्री श्री केदार कश्यप ने प्रदेश के बालोद जिले के शासकीय कन्या उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय की बालिकाओं की इस उपलब्धि की प्रशंसा करते हुए बधाई दी।

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में छत्तीसगढ़ की दो परियोजनाएं स्कॉच स्मार्ट टेक्नालॉजी अवार्ड-2015 से सम्मानित-13-12-2015

सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ की दो परियोजनाओं को सम्मान प्राप्त हुआ है। नई दिल्ली के इंडिया हेबिटेट सेंटर में 11 दिसम्बर को आयोजित एक गरिमामय कार्यक्रम में ‘लोक सेवा केन्द्र तथा छत्तीसगढ़ डिजिटल सचिवालय परियोजनाओं को ‘स्कॉच स्मार्ट टेक्नालॉजी अवार्ड-2015’ प्रदान किया गया। छत्तीसगढ़ की ओर से इस पुरस्कार को चिप्स के उपाध्यक्ष श्री ए.एम. परियल ने ग्रहण किया।

डिजिटल इंडिया सप्ताह में उल्लेखनीय कार्य के लिए छत्तीसगढ़ को मिला प्रथम पुरस्कार-28-12-2015

केन्द्र सरकार ने डिजिटल इंडिया सप्ताह के दौरान सूचना प्रौदयोगिकी के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया है। आज नई दिल्ली के इंडिया हेबिटेट सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद के हाथों राज्य सरकार की संस्था छत्तीसगढ़ इन्फोटेक एंड बायोटेक प्रमोशन सोसाईटी (चिप्स)के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री सौरभ कुमार और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (रायपुर) के प्रभारी अधिकारी श्री एम0के0मिश्रा ने प्रदेश सरकार की ओर से यह पुरस्कार ग्रहण किया।

 

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2014

मनरेगा स्थापना दिवस पर छत्तीसगढ़ को एक मुश्त पांच पुरस्कार

02 फरवरी 2014/ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ को केन्द्र सरकार से लगातार मिल रहे राष्ट्रीय पुरस्कारों की श्रृंखला में राज्य के खाते में दो फरवरी 2014 को एक और नया तथा गौरवशाली अध्याय जुड़ गया,  जब प्रदेश ने एक दिन में पांच राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल करने का कीर्तिमान बनाया। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के स्थापना दिवस के अवसर पर आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री जयराम रमेश ने छत्तीसगढ़ को इस योजना के तहत पांच राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया। इनमें से दो पुरस्कार सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ राज्य को प्रदान किए गए। मनरेगा के तहत छत्तीसगढ़ को प्रथम पुरस्कार राज्य के गांवों में वर्ष 2012-13 में मनरेगा के आवंटन तथा अन्य विकास विभागों की योजनाओं को मिलाकर कनवर्जेन्ंस श्रेणी में दो हजार 232 करोड़ रूपए की धनराशि से गांवों में बारह करोड़ दस लाख मानव दिवस का रोजगार सृजन करने और आजीविका के स्थायी साधनों के विकास पर दिया गया। इसके अलावा इस योजना में सूचना, शिक्षा और संचार के बेहतरीन इस्तेमाल के लिए भी राज्य को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। अन्य तीन पुरस्कारों में से एक पुरस्कार प्रदेश के नक्सल पीड़ित बीजापुर जिले को चुनौती पूर्ण परिस्थितियों में मनरेगा के शानदार क्रियान्वयन के लिए दिया गया। एक पुरस्कार राज्य के राजनांदगांव जिले को लीडरशीप श्रेणी में और दूसरा पुरस्कार बालोद जिले की ग्राम पंचायत खरथुली को प्रदान किया गया। नई दिल्ली में आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह छत्तीसगढ़ सरकार को प्रदत्त दोनों राष्ट्रीय पुरस्कार पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड ने ग्रहण किया। इसी कड़ी में जिला पंचायत राजनांदगांव की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती प्रियंका शुक्ला ने राजनांदगांव जिले के लिए और ग्राम पंचायत खरथुली के सरपंच श्री गौरांग पिस्दा ने अपनी ग्राम पंचायत के लिए केन्द्रीय मंत्री से पुरस्कार प्राप्त किए। बीजापुर जिले का पुरस्कार वहां के कलेक्टर श्री मोहम्मद कैसर अब्दुल हक के अपरिहार्य कारणों से नहीं आ पाने के कारण उनके जिले का पुरस्कार राजनांदगांव जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती प्रियंका शुक्ला ने ग्रहण किया।क्रमांक-3660/स्वराज्य


एक बार फिर राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार

    10 फरवरी 2014/ राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने छत्तीसगढ़ को वर्ष 2012-13 में देष में धान उत्पादन में सर्वश्रेश्ठ प्रदर्षन के लिए कृषि कर्मण पुरस्कार से नवाजा । यह पुरस्कार दस फरवरी 2014 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित गरिमामय कार्यक्रम में राश्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में प्रदेश के कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने राष्ट्रपति के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य को लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार मिलने पर प्रदेश के किसानों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि हमारे किसानों की कड़ी मेहनत से ही प्रदेश को यह गौरव प्राप्त हुआ है। इसके पहले 16 जुलाई 2011 को भी छत्तीसगढ़ को केन्द्र सरकार की ओर से कृषि कर्मण पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। उस वक्त मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया था। वर्श 2011 में राज्य में धान का उत्पादन 1751 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर था, जो 2012-13 में बढ़कर 2014 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर हो गया। राज्य सरकार ने किसानों की बेहतरी के लिए कई पहल की हैं जिनमें धान के एक-एक दाने की खरीद, संपूर्ण खाद्य आपूर्ति श्रृंखला (कृशि उत्पादन व खरीद से लेकर वितरण तक) का सर्वश्रेश्ठ प्रबंधन पिछले दस सालों में धान की खरीद के लिए किसानों को 43000 करोड़ रूपये का भुगतान किया है।क्रमांक-3738/सूकेदि

 

छत्तीसगढ़ की वन प्रबंधन समितियों को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

13 फरवरी 2014/ छत्तीसगढ़ की संयुक्त वन प्रबंधन समितियों को प्रकृति के बेहतर संरक्षण और सामुदायिक नेतृत्व विकास के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्यों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया है। प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन की दिशा में राष्ट्रीय स्तर पर कार्यरत अशासकीय संस्था ‘इब्राड’ द्वारा कोलकाता में इस माह की 7 से 9 तारीख तक आयोजित ‘संकल्प’ कार्यक्रम में  पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ सहित देश के 11 राज्यों की वन प्रबंधन समितियों ने हिस्सा लिया।क्रमांक-3784/पटेल


कोर पी.डी.एस. में एक बार फिर राष्ट्रीय अवार्ड

14 फरवरी 2014/ सार्वजनिक वितरण प्रणाली में कोर पी.डी.एस.- मेरी मर्जी योजना के लिए छत्तीसगढ़ को एक बार फिर प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। राज्य को सूचना एवं प्रौद्योगिकी की साफ्टवेयर कम्पनियों के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय संगठन नासकाम (NASSCOM) मुम्बई द्वारा कोर पी.डी.एस. मेरी मर्जी परियोजना के लिए सामाजिक नवाचार (सोशल इनोेवेशन) अवार्ड 2014 से सम्मानित किया गया है। खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले को 14 फरवरी को रायपुर में विधानसभा स्थित उनके कार्यालय कक्ष में विभाग के संचालक श्री उमेश कुमार अग्रवाल ने राज्य को प्राप्त यह प्रतिष्ठित राष्ट्रीय अवार्ड सौंपा।क्रमांक-3797/लहरे


 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से सम्मानित हुआ छत्तीसगढ़

18 फरवरी 2014/ केन्द्र सरकार ने आज एक बार फिर छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया। इस बार यह पुरस्कार नए राज्य में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए  अंग्रेजी के अलावा भारतीय भाषाओं और विदेशी भाषाओं में सैलानियों के लिए सुरूचिपूर्ण ज्ञानवर्धक पर्यटन साहित्य के प्रकाशन पर केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल को प्रदान किया गया। आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री श्री शशि थरूर ने छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के महानिदेशक श्री संतोष मिश्रा को राज्य के लिए यह पुरस्कार सौंपा।

छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर 26 फरवरी 2014/ राज्य सरकार के सार्वजनिक उपक्रम  छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को आज नई दिल्ली में एसोचैम (एसोसिएटेड चैम्बर कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया) के छठवें  ‘‘एफोर्डेबल हाऊसिंग एक्सीलेंस’’ पुरस्कार से नवाजा गया है। केन्द्रीय शहरी गरीबी उन्मूलन तथा आवास मंत्री डॉ. (श्रीमती) गिरिजा व्यास ने गृह निर्माण मंडल को यह पुरस्कार प्रदान कर बधाई और शुभकामनाएं दी। छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल की ओर से संस्था के आयुक्त श्री सोनमणि बोरा ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस अवसर पर केन्द्रीय आवासीय एवं शहरी विभाग के सचिव श्री अरूण कुमार मिश्रा भी उपस्थित थे।

छत्तीसगढ को अधोसंरचना के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए उत्कृष्टता पुरस्कार-26-09-2014

सड़क, बिजली, स्कूल, अस्पताल जैसी अनिवार्य अधोसंरचनाओं के निर्माण और विकास में उल्लेखनीय योगदान के लिए छत्तीसगढ़ को सर्वश्रेष्ठ राज्य के रूप में पुरस्कृत और सम्मानित किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वेकैय्या नायडू के हाथों यह सम्मान ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ को अधोसंरचना विकास के मामले में यह पुरस्कार अंग्रेजी के प्रसिद्ध दैनिक ‘द इकॉनामिक टाईम्स’ की ओर से दिया गया है।


बिजली के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य: छत्तीसगढ़ को तीन राष्ट्रीय पुरस्कार

   28 नवम्बर 2014/ बिजली के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को 27 नवम्बर 2014 को तीन राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। ये पुरस्कार ऊर्जा क्षेत्र में कार्य करने वाली प्रतिष्ठित पत्रिका इनरशिया ; प्दमतजपं द्ध द्वारा नई दिल्ली में आयोजित समारोह में प्रदान किये गये। पहला पुरस्कार राज्य को पावर सेक्टर में निवेश और अधोसंरचना निर्माण के सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए दिया गया तथा ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह को बिजली के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले देश के सर्वश्रेष्ठ ब्यूरोक्रेट का पुरस्कार प्रदान किया गया। दूसरा पुरस्कार छत्तीसगढ़ सरकार के उपक्रम अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) को सौर ऊर्जा के उपयोग से जल शोधन तकनीक यंत्र बनाने के लिए प्रदीप पिंपले ग्रास रूट इनोवेशन अवार्ड से नवाजा गया। ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह को देश में ऊर्जा क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले ब्यूरोक्रेट का सम्मान बलरामपुर के तातापानी में देश के प्रथम जियोथर्मल पावर प्लांट को स्थापित करने के प्रयास करने , छत्तीसगढ़ को सरप्लस बिजली वाले राज्य से बिजली धनी राज्य के रूप में परिवर्तित करने के ठोस प्रयास करने , अधोसंरचना और उत्पादन के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति करने आदि के लिए प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में बिजली उत्पादन, पारेषन और वितरण के क्षेत्र में विगत कुछ वर्षों में सराहनीय कार्य हुए हैं। छत्तीसगढ़ वर्ष 2008 से लगातार देश का पहला विद्युत कटौती मुक्त राज्य बना हुआ है। बिजली के क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार  सरप्लस बिजली उत्पादन , 12 वीं पंचवर्षीय योजना के अंत तक 70 हजार मेगावाट उत्पादन के लक्ष्य की ओर अग्रसर , 97 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की उपलब्धता , 1.92 लाख करोड़ रूपये के पूंजी निवेश प्रस्तावों , टी एंड डी नुकसान को 26.72 प्रतिशत से 19.79 प्रतिशत तक कम करने आदि उपलब्धियों के लिए  ज्यूरी द्वारा प्रदान किया गया है ।

सूचना प्रौद्योगिकी में छत्तीसगढ़ को दो राष्ट्रीय पुरस्कार

 15 दिसम्बर 2014/ सूचना प्रौद्यागिकी में छत्तीसगढ़ को एक साथ दो राष्ट्रीय पुरस्कार मिलें हैं। कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया निहलेंट द्वारा प्रदेश को आई.टी. क्षेत्र में निरन्तर उत्कृष्टता और छत्तीसगढ़़ इंफोटेक एवं बायोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) द्वारा संचालित भौगोलिक सूचना प्रणाली योजना को परियोजना श्रेणी में निरन्तरता अवार्ड दिया गया है। राज्य सरकार की ओर से सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव श्री बी.आनंद बाबू ने यह पुरस्कार हैदराबाद के जवाहर लाल नेहरु तकनीकी विश्वविद्यालय के सभागृह में डॉ. पीटर पैरीस्केक (दानूबी विश्वविद्यालय, आस्ट्रिया) से प्राप्त किया । इस अवसर पर कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष श्री एच.आर.मोहन, इ-गवर्नेंस विशेष रुचि समूह के अध्यक्ष श्री पीयूष गुप्ता, श्री एल.सी.सिहं उपाध्यक्ष एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी निहिलेंट टेक्नालॉजी, श्रीमती श्रीदेवी आयलूरी के साथ देश भर से आये अनेक आई.टी. विशेषज्ञ उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि चिप्स द्वारा संचालित योजनाओं को अनेक राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय सम्मान मिल चुके हैं। जिनमें से सी.एस.आई. निहिलेंट उत्कृष्ट राज्य पुरस्कार, ई-प्रोक्योंरमेंट को चार श्रेण्यिों में पुरस्कार आदि प्रमुख है।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2013

छत्तीसगढ़ के जनसम्पर्क विभाग की झांकी को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 01 फरवरी 2013/ केन्द्र सरकार की ओर से छत्तीसगढ़ आज एक बार फिर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हुआ। रक्षा मंत्री श्री ए.के.एंटनी ने छत्तीसगढ़ सरकार के जनसम्पर्क विभाग की झांकी को गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय समारोह में राजपथ पर किए गए श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए आज नई दिल्ली के राष्ट्रीय रंग शाला शिविर में आयोजित समारोह में तीसरे पुरस्कार से नवाजा। नई दिल्ली स्थित छत्तीसगढ़ सरकार की आवासीय आयुक्त श्रीमती बी.व्ही.उमादेवी ने रक्षा मंत्री श्री एंटनी के हाथों राज्य सरकार के लिए यह पुरस्कार ग्रहण किया।

कमल विहार योजना को मिला राष्ट्रीय सम्मान

रायपुर, 22 फरवरी 2013/छत्तीसगढ़ सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना को आज नई दिल्ली के इंडिया हैबिटाट सेंटर में आयोजित एक गरिमामय समारोह में देश और विदेश से आये अनेक प्रतिभागियों के बीच सम्मानित किया गया। छत्तीसगढ़ के आवास एवं पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत ने भारत सरकार के आवास और गरीबी उपषमन मंत्रालय के सचिव श्री ए.के. मिश्रा से यह सम्मान ग्रहण किया ।

कांकेर जिले के साथ राजनांदगांव की ग्राम पंचायत गातापार को मनरेगा पुरस्कार

रायपुर, 02 फरवरी 2013 / प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में आज छत्तीसगढ़ के उत्तर बस्तर (कांकेर) जिला पंचायत को तथा राजनांदगांव जिले की ग्राम पंचायत गातापार (विकासखण्ड छुईखदान) को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया। यह लगातार दूसरा वर्ष है, जब छत्तीसगढ़ को मनरेगा में राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

छत्तीसगढ़ को सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में मिला ’डेटाक्वेस्ट ई-रेडिनेस अवार्ड’

30 अगस्त 2013 / छत्तीसगढ़ सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में से एक है। डेटा क्वेस्ट सी.एम.आर. द्वारा देश में हाल ही में किये गये सर्वे के आधार पर छत्तीसगढ़ को ‘‘सूचना प्रौद्योगिकी का प्रति व्यक्ति उपयोगिता‘‘ के आधार पर यह पुरस्कार दिया गया। कल शाम नई दिल्ली में आयोजित एक भव्य समारोह में चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ए.एम.परियल ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

छत्तीसगढ़ को मिला भारत राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार

08 सितम्बर 2013/ साक्षरता के क्षेत्र में हुई उल्लेखनीय उपलब्धियों को देखते हुए देश के इस नये राज्य को भारत राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार से नवाजा गया है। यह पुरस्कार आज अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित एक गरिमामय समारोह में राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी के हाथों छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले और इसी जिले की पटना तहसील को भी इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया। कोरिया जिले का यह पुरस्कार जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती चम्पा देवी सिंह पावले और पटना ग्राम पंचायत की संरपच श्रीमती गायत्री सिंह ने राष्ट्रपति के हाथों ग्रहण किया।

 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को मिला राष्ट्रीय सम्मान : एग्रीकल्चर प्रोग्राम लीडरशिप अवार्ड 2013

20 सितम्बर 2013 / छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को राज्य में खेती-किसानी के क्षेत्र के विकास के लिए बेहतर नीतियों के निर्माण, और कृषि संबंधी योजनाओं के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए आज नई दिल्ली में आयोजित समारोह में एग्रीकल्चर प्रोग्राम लीडरशिप के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

‘चिप्स’ को दो राष्ट्रीय पुरस्कार : विशाखापट्टनम में ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना और नई दिल्ली में ई-गवर्नेंस सेवाओं के लिए मिला पुरस्कार

17 दिसम्बर 2013/ छत्तीसगढ़ में ई-गवर्नेंस सेवाओं को प्रोत्साहित करने के लिये गठित छत्तीसगढ़ इंफोटेक एवं बायोटेक प्रमोशन सोसायटी, चिप्स  को लगातार दो पुरस्कार मिले हैं। चिप्स द्वारा संचालित ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना को आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस पुरस्कार मिला है। सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विगत 60 वर्षों से कार्यरत संस्था कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंण्डिया द्वारा उद्योग, शिक्षा एवं सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के विख्यात लोगों की गठित जूरी द्वारा इस पुरस्कार के लिये चिप्स के ई-प्रोक्योमेंट परियोजना का चयन किया गया। भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव श्री जे.सत्यनारायण द्वारा 14 दिसम्बर 2013 को यह सम्मान चिप्स को प्रदान किया गया। चिप्स की ओर से संयुक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हेमन्त जैन एवं प्रणाली प्रशासक श्री सरोजेश कुमार ने प्राप्त किया।
            नैसकॉम डेटा सिक्योरिटी काउंसिंल ऑफ इण्डिया द्वारा ई- गवर्नेंस सेवाओं में सुरक्षा क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य के लिये चिप्स को पासपोर्ट सेवा के साथ संयुक्त उपविजेता घोषित किया गया है।पूर्व केन्द्रीय गृह सचिव श्री जी.के.पिल्ले ने 11 दिसम्बर 2013 को चिप्स के अधिकारियों को यह पुरस्कार नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदान किया।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2012

 

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में सरगुजा जिले को राष्ट्रीय पुरस्कार
·   02 फरवरी 2012/  महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण  रोजगार गारंटी योजना के तहत प्रदेश के सरगुजा जिले को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार। प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने 02 फरवरी 2012 को नई दिल्ली में किया पुरस्कृत।

छत्तीसगढ़ उद्यानिकी मिशन को पुरस्कार
·   17 फरवरी 2012/ राज्य शासन द्वारा संचालित छत्तीसगढ़ उद्यानिकी मिशन को भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय पुरस्कार। केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री शरद पवार और केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री डॉ. चरण दास महंत ने नई दिल्ली में 17 फरवरी 2012 को आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ उद्यानिकी मिशन को प्रशस्ति पत्र और ट्रॉफी प्रदान कर सम्मानित किया। राज्य में यह राष्ट्रीय मिशन वर्ष 2005-06 से प्रारंभ हुआ है। अब तक यहां इस मिशन के तहत करीब पांच लाख हेक्टेयर के रकबे में उद्यानिकी फसलों की खेती होने लगी है, जिनका कुल उत्पादन करीब पचास लाख टन है।

पर्यटन पुरस्कार
·   26 फरवरी 2012/ छत्तीसगढ़ को पर्यटन के क्षेत्र में उभरते राज्य के लिए मिला पुरस्कार। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री कृष्णकुमार राय ने रविवार 26 फरवरी 2012 को नई दिल्ली के अशोका होटल में आयोजित समारोह में राज्य सभा की पूर्व उप सभापति डॉ. नजमा हेपतुल्ला से यह पुरस्कार ग्रहण किया। स्वीट मीडिया पब्लिकेशन द्वारा किए गए शोध के आधार पर छत्तीसगढ़ को पर्यटन के क्षेत्र में उभरते राज्यों में सर्वोच्च स्थान दिया गया है।

 

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ताप बिजली संयंत्र को राष्ट्रीय पुरस्कार

22 मार्च 2012/ छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत उत्पादन कम्पनी के कोरबा स्थित 500 मेगावाट के डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ताप बिजली संयंत्र को भारत सरकार से कॉस्य शील्ड के रूप में मिला राष्ट्रीय पुरस्कार। केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री श्री सुशील कुमार शिन्दे ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ विद्युत उत्पादन कम्पनी के प्रबंध संचालक श्री जनार्दन कर को सौंपा यह पुरस्कार।

 

गरीबों को आवास उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार

 रायपुर 25 अप्रैल 2012 / छत्तीसगढ़ को गरीबों और निम्न आय वर्ग के लोगों को आवास उपलब्ध कराने के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया है । आवास एवं शहरी विकास निगम (हुडको) द्वारा दीनदयाल आवास योजना और अटल आवास योजना के बेहतर क्रियान्वयन के आधार पर छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को यह पुरस्कार दिया गया है। आज नई दिल्ली के इंडिया हैबीटेट सेंटर में 25 अप्रैल को आयोजित एक गरिमामय समारोह में केन्द्रीय आवास मंत्री कु. शैलजा ने यह पुरस्कार छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री सुभाष राव और आयुक्त श्री सोनमणी बोरा को दिया ।

 

छत्तीसगढ़ की कोर पी.डी.एस. परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 20 सितंबर 2012 / मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की सार्वजनिक वितरण प्रणाली ने एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी सफलता का पचरम लहराया है। इस प्रणाली के अंतर्गत राजधानी रायपुर की 148 राशन दुकानों में स्मार्ट कार्ड के आधार पर राशन कार्डधारकों के लिए शुरू की गई कोर पी.डी.एस. परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

 

मुख्यमंत्री को राष्ट्रीय ई-रत्न पुरस्कार

    05 नवम्बर 2012/ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को पांच नवम्बर 2012 को रायपुर में आयोजित राष्ट्रीय ई-ज्ञान शिखर सम्मेलन के शुभारंभ सत्र में कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा राष्ट्रीय ई-रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। छत्तीसगढ़ में कम्प्यूटर शिक्षा और सूचना प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने, शासन और प्रशासन में कम्प्यूटर तथा इन्टरनेट के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करने और इस दिशा में राज्य को प्राप्त उपलब्धियों के लिए सोसायटी ने इस वर्ष मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का चयन इस पुरस्कार के लिए किया गया।

छत्तीसगढ़ की कोर पी.डी.एस. परियोजना को फिर मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 02 दिसम्बर 2012/ प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में राशन कार्ड धारकों के लिए शुरू की गई कोर पी.डी.एस. को मात्र ढाई महीने में मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार। छत्तीसगढ़ सरकार की इस विशेष परियोजना को कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में दो दिसम्बर 2012 को अपनी संस्था के प्रतिष्ठित पुरस्कार सी.एस.आई. निहलेंट एवार्ड 2012 से नवाजा गया। कम्प्यूटर सोसायटी द्वारा कोलकाता में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ सरकार के खाद्य सचिव श्री विकासशील और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एन.आई.सी.) के तकनीकी निदेशक श्री सोमशेखर ने देश के प्रसिद्ध कम्प्यूटर विशेषज्ञ, पद्मश्री सम्मान प्राप्त श्री पी.व्ही.एम. राव के हाथों राज्य सरकार के लिए वर्ष 2012 का यह पुरस्कार ग्रहण किया। कोर पी.डी.एस. परियोजना वर्तमान में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित दुर्ग तथा राजनांदगांव नगर निगम क्षेत्र की कुल 232 उचित मूल्य दुकानों में संचालित की जा रही है। सेन्ट्रलाईज्ड आॅन लाईन रीयल टाईम इलेक्ट्रानिक पी.डी.एस. यानी संक्षेप में कोर पी.डी.एस. नाम से शुरू की गई इस योजना में अब तक गरीबी रेखा श्रेणी तथा मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना के एक लाख 61 हजार राशन कार्ड धारक परिवारो को ए.टी.एम. कार्ड की तर्ज पर स्मार्ट कार्ड दिए जा चुके हैं, जिसके आधार पर उन्हें अपनी मर्जी की किसी भी उचित मूल्य दुकान से राशन उठाने की सुविधा मिली है। इनमें रायपुर शहर की 124 दुकानों के 71 हजार, दुर्ग शहर की 69 दुकानों के 51 हजार और राजनांदगांव शहर की 49 दुकानों के 39 हजार राशन कार्ड धारक शामिल हैं। दुर्ग नगर निगम क्षेत्र में राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के स्मार्ट कार्ड धारकों को भी अपने स्मार्ट कार्ड के आधार पर यह सुविधा मिल रही है।

छत्तीसगढ़ देश में सबसे कम बेरोजगारी की दर वाला राज्य

15-12-2012/ रोजगार की स्थिति पर भारत सरकार की संस्था केन्द्रीय श्रम ब्यूरो द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर जारी पिछले वित्तीय वर्ष 2011-12 की अपनी सर्वेक्षण रिपोर्ट में छत्तीसगढ़ को सबसे कम बेरोजगारी की दर वाले राज्य के रूप में चिन्हांकित किया गया है। प्रदेश की इस उपलब्धि पर 15 दिसम्बर 2012 को नई दिल्ली में राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को पीएचडी चेम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। भारत सरकार की संस्था केन्द्रीय श्रम ब्यूरो की वर्ष 2011-12 की रिपोर्ट में छत्तीसगढ में 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में बेरोजगारी की दर केवल 1.2 (एक दशमलव दो) प्रतिशत है। यानी रायमें प्रति एक हजार की जनसंख्या में केवल बारह युवा बेरोजगार हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में केवल 1.1 ( एक दशमलव एक) प्रतिशत पुरूष और छह प्रतिशत महिलाएं तथा शहरी क्षेत्रों में केवल 2.7 (दो दशमलव सात) प्रतिशत पुरूष और 5.9 (पांच दशमलव नौ)प्रतिशत महिलाएं बेरोजगार हैं। यह सर्वेक्षण परिवार आधारित था।


 छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को अफोर्डेबल हाऊसिंग के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार

15 दिसम्बर 2012/ छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को अफोर्डेबल हाऊसिंग के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्षन पर प्रतिष्ठित ईपीसी वर्ल्ड अवार्ड 2012 से नवाजा गया है। केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री श्री हरीश रावत और सांसद श्री बलबीर पुंज ने 15 दिसम्बर 2012 को नई दिल्ली के होटल अषोका में आयोजित एक गरिमामय समारोह में छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री सुभाष राव और आयुक्त श्री सोनमणि बोरा को यह पुरस्कार प्रदान किया। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सचिव श्री सुधीर कृष्ण भी इस अवसर पर उपस्थित थे। छत्तीसगढ़ में आवास क्रांति नए षिखरों पर पहुंची है। मंडल द्वारा निर्मित घरों में लगभग 85 प्रतिषत मकान निम्न आय वर्ग के लोगों के लिए है। राज्य के सभी जिलों में एक लाख घर बनाने के लिए अटल विहार योजना प्रारंभ कर दी गयी है। छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल ने 8 वर्षों में 52 हजार से अधिक आवासों का निर्माण किया है।

छत्तीसगढ़ को ऊर्जा संरक्षण का राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 20 दिसम्बर 2012/छत्तीसगढ़ सरकार को नेट प्लस एनर्जी बिल्डिंग (ऊर्जा दक्ष भवन) के प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया है। यह पुरस्कार राजधानी रायपुर स्थित छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग के भवन को शत-प्रतिशत सौर ऊर्जा से आलोकित करने पर इंडिया टेक फाउंडेशन की ओर से प्राप्त हुआ है। ग्यारहवें इंडिया-टेक एक्सीलेंस पुरस्कारों की श्रृंखला में छत्तीसगढ़ सरकार को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।   क्रेडा के निदेशक श्री एस. के शुक्ला ने मुम्बई में इंडिया टेक फाउंडेशन द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में केन्द्रीय शहरी गरीबी उन्मूलन और आवास मंत्री श्री अजय माकन के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2011

 

गरीबी कम करने वाली योजनाओं के लिए राष्ट्रीय सम्मान

·   24 फरवरी 2011/  छत्तीसगढ़ को गरीबी कम करने वाली योजनाओं के लिए मिला राष्ट्रीय सम्मान। उप-राष्ट्रपति श्री हामिद अंसारी ने 24 फरवरी 2011 को नई दिल्ली में IBN-7 स्टेट अवार्ड प्रदान किया।

नया रायपुर विकास परियोजना को राष्ट्रीय पुरस्कार
·  25 अप्रैल 2011/  नया रायपुर विकास परियोजना को आवास एवं शहरी विकास के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार। प्रदेश सरकार की नया रायपुर विकास परियोजना को भारत सरकार के सार्वजनिक उपक्रम शहरी आवास विकास निगम (हुडको) द्वारा वर्ष 2010-11 में आवास एवं शहरी विकास के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।  हुडको के स्थापना दिवस के अवसर 25 अप्रैल 2011 को नई दिल्ली में आयोजित 41 वें वार्षिक समारोह में राज्य शासन की ओर से मुख्य सचिव और नया रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री पी. जॉय उम्मेन ने केन्द्रीय आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन विभाग की राज्य मंत्री सुश्री सैलजा के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण् किया।

चावल उत्पादन के लिए मिला कृषि कर्मण पुरस्कार
·   16 जुलाई 2011/ छत्तीसगढ़ को मिला वर्ष 2010-11 के लिए सर्वाधिक चावल उत्पादक राज्य का पुरस्कार। प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने नई दिल्ली में 16 जुलाई 2011 को आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को 'कृषि कर्मण' पुरस्कार प्रदान किया। पुरस्कार स्वरुप प्रशस्ति पत्र और एक करोड़ रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की।

चॉईस परियोजना को श्रेष्ठ ई-गवर्नेंस पोर्टल जूरी अवार्ड
·    23 अगस्त 2011/ छत्तीसगढ़ की ओपन सोर्स पर आधारित देश की वृहद्तम परियोजना चॉइस को एक और पुरस्कार प्राप्त हुआ है। विष्वस्तरीय ई-वर्ल्ड फोरम संस्था द्वारा ''चॉईस को श्रेष्ठ ई-गवर्नेंस पोर्टल जूरी अवार्ड दिया गया है। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के प्रसिद्व डा. एम. पी. नारायन, प्रो. वी. एन. राजशेखरन पिल्ले, श्री रवि गुप्ता सहित ग्यारह सदस्यों के दल ने चॉईस का चयन इस पुरस्कार के लिए किया है। यह पुरस्कार नई दिल्ली में रायपुर 23 अगस्त 2011 को ई-वर्ल्ड फोरम संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में दिया गया। चॉईस को पूर्व में भी अनेक राष्ट्रीय तथा अंतर्राट्रीय स्तर के पुरस्कार मिल चुके हैं, जिनमें वर्ल्ड इज ओपन अवार्ड 2008, ई चैम्पियन अवार्ड 2007, कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया 2008, निहिलेंट अवार्ड 2009 तथा कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया चॉइस विस्तारित सेवा अवार्ड 2010 आदि प्रमुख हैं।

एकताल बेलमेटल योजना को राष्ट्रीय पुरस्कार
·    02 सितम्बर 2011/ छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड की एकताल बेलमेटल योजना को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। यह पुरस्कार 02 सितम्बर 2011 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा पाटिल द्वारा प्रदान किया गया। छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष मेजर अनिल सिंह ने राष्ट्रपति के हाथों यह पुरस्कार ग्रहण किया।

सूरजपुर विकासखंड को सत्येन मैत्रा राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार
·   08 सितम्बर 2011/ साक्षर भारत कार्यक्रम के बेहतर क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के सूरजपुर विकासखंड को प्रतिष्ठित सत्येन मैत्रा स्मृति राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार 2011 से नवाजा गया है। नई दिल्ली में 08 सितम्बर 2011 को आयोजित एक समारोह में जनपद पंचायत सूरजपुर की अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा सिंह ने यह पुरस्कार राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल के हाथों ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ ने सत्येन मैत्रा स्मृति राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार प्राप्त करने के क्षेत्र में कीर्तिमान बनाया है। अब तक राज्य के महासमुंद, कांकेर, दंतेवाड़ा, सरगुजा, जशपुर जिले को जिला स्तरीय व कोयलारी (सरगुजा), सिरली (कोरबा) को ग्राम पंचायत स्तरीय पुरस्कार प्राप्त हो चुका है। इस वर्ष सूरजपुर विकासखण्ड को विकासखण्ड स्तरीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।  

ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना को 'इन्फरमेशन अवार्ड 2011' सम्मान
·    30 सितम्बर 2011/ सूचना प्रौद्योगिकी की प्रख्यात पत्रिका इंफरमेशन वीक की संस्था 'एज' (इंटरप्राईजेज ड्रायविंग ग्रोथ एण्ड एक्सीलेंस EDGE) द्वारा छत्तीसगढ़ की ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना को इन्फरमेशन अवार्ड 2011 पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। मुम्बई के गोरेगांव स्थित एक्जीविशन सेंटर में 30 सितम्बर 2011 को आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

दूध उत्पादन में दो किसानों को राष्ट्रीय पुरस्कार
·   नवम्बर 2011/ छत्तीसगढ़ के दो प्रगतिशील दुग्ध उत्पादक किसानों को दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए राष्ट्रीय उत्पादकता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। कृषि एवं पशुपालन मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री शरद पवार ने नवम्बर 2011 में छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के दुग्ध उत्पादक किसान श्री महेन्द्र भाई पटेल और महासमुंद जिले के किसान श्री दुर्योधन पटेल को सम्मानित किया।

नया रायपुर को राष्ट्रीय स्तर का पर्यावरण पुरस्कार-23-11-2011

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नया रायपुर क्षेत्र विकास प्राधिकरण और यहां मंत्रालय भवन के निर्माण कार्यों के लिए अनुबंधित निजी क्षेत्र की कम्पनी आई.व्ही.आर.सी.एल. को संयुक्त रूप से राष्ट्रीय स्तर का पर्यावरण पुरस्कार मिलने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री को आज सवेरे यहां नया रायपुर में निर्माणाधीन मंत्रालय भवन के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि पर्यावरण के क्षेत्र में सक्रिय दिल्ली की ग्रीनटेक फाउंडेशन द्वारा भवन निर्माण में पर्यावरण हितैषी तकनीक का उपयोग करने के लिए एनवायरमेंट एक्सीलैंस एवार्ड दिया गया है। नया रायपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.एस. बजाज ने श्रीनगर में 19 अक्टूबर 2011 को आयोजित समारोह में निर्माण कम्पनी के प्रतिनिधि के साथ यह पुरस्कार ग्रहण किया।

सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नेंस राज्य का सम्मान
·    02 दिसम्बर 2011/सूचना प्रौद्योगिकी के बेहतर उपयोग के लिए छत्तीसगढ़ को एक और राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। प्रसिध्द वैज्ञानिक डॉ. राजा रमण ने दो दिसम्बर 2011 को अहमदाबाद में कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया-निलिहेंट की ओर से यह पुरस्कार प्रदान किया। चिप्स की ओर से मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री ए.एम. परियल ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।

सर्वश्रेष्ठ नि:शक्त कर्मचारी का राष्ट्रीय पुरस्कार
·  03 दिसम्बर 2011/  राज्य के इंदिरा कला एवं संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में कार्यरत नेत्रहीन संस्कृत व्याख्याता डॉ. पूर्णिमा केलकर को सर्वश्रेष्ठ नि:शक्त कर्मचारी के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। डॉ. पूर्णिमा केलकर को अन्तर्राष्ट्रीय नि:शक्तजन दिवस के अवसर पर 03 दिसम्बर 2011 को नई दिल्ली में राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा सिंह पाटिल के हाथों यह सम्मान प्राप्त हुआ। नेत्रहीन होने के बावजूद डॉ. पूर्णिमा केलकर ने शोध कार्य के जरिए पी-एच.डी. की उपाधि भी हासिल की है।

बिजली संरक्षण में क्रेडा को दो राष्ट्रीय पुरस्कार
·  05 दिसंबर 2011/  छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) को गैर परम्परागत ऊर्जा संरक्षण और विकास के लिए एक साथ दो-दो राष्ट्रीय पुरस्कार मिले। क्रेडा को तेजपुर (असम) में पिछले महीने की अठारह तारीख को केन्द्रीय अपरम्परागत ऊर्जा स्त्रोत मंत्रालय द्वारा आयोजित सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ नोडल एजेंसी के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी कड़ी में 05 दिसंबर 2011 को नई दिल्ली में केन्द्र सरकार की ऊर्जा उपयोगिता परिषद द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भी छत्तीसगढ़ क्रेडा को बेस्ट सोशियल इम्पेक्ट एवार्ड से नवाजा गया।

भागीरथी नल-जल योजना को प्रधानमंत्री पुरस्कार
·   13 दिसंबर 2011/ छत्तीसगढ़ में रहने वाले गरीब परिवारों के घरों तक नि:शुल्क पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित भागीरथी नल-जल योजना को केन्द्र सरकार द्वारा पुरस्कृत किया गया है। केन्द्र सरकार ने इस योजना को गरीबों के लिए संचालित योजनाओं में सर्वश्रेष्ठ माना है। छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री राजेश मूणत ने 13 दिसंबर 2011 को नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय शहरी विकास सम्मेलन में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री कमलनाथ और शहरी गरीबी उपशमन मंत्री कुमारी शैलेजा के हाथों राष्ट्रीय पुरस्कार ग्रहण किया। इस अवसर पर भिलाई नगर निगम की महापौर श्रीमती निर्मला यादव भी मौजूद थी। यह पुरस्कार भागीरथी नल-जल योजना के तहत पूरे छत्तीसगढ़ में 92 हजार नल कनेक्शन और भिलाई नगर निगम क्षेत्र में लगभग 20 हजार नल कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए दिया गया है।

ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार
·   14 दिसम्बर 2011/  ऊर्जा संरक्षण की दिशा में छत्तीसगढ़ में किये जा रहे बेहतर प्रयासों को देखते हुए केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया है। नई दिल्ली के विज्ञान भवन में 14 दिसम्बर 2011 को ऊर्जा सरंक्षण् दिवस पर आज आयोजित कार्यक्रम में राज्य शासन की ओर से यह पुरस्कार छत्तीसगढ़ अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) के अपर संचालक ने केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री श्री सुशील कुमार शिंदे के हाथों ग्रहण किया। कार्यक्रम का उद्धाटन प्रधानमंत्री डॉ0 मनमोहन सिंह ने किया। वर्ष 2011 में ऊर्जा संरक्षण की दिशा में किये गये बेहतर प्रयासों पर छत्तीसगढ़ को ऊर्जा संरक्षण के तृतीय राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है। छत्तीसगढ़ अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण द्वारा एक वर्ष में 20 लाख यूनिट ऊर्जा की बचत कर देश में एक कीर्तिमान स्थापित किया है। ऊर्जा संरक्षण की दिशा में राज्य में विभिन्न प्रयास किये गये। सौर ऊर्जा को राज्य के दूरस्थ अचंलाें तक पहुंचाया गया। क्रेडा ने स्ट्रीट लाईट के उपयोग में लाई जा रही सोडियम वेपर के स्थान पर व्यापक रूप से एलईडी लाईट लगाई गई, जिससे 50 से 70 प्रतिशत तक बिजली की बचत सुनिश्चित हुई है।

ई-वर्ल्ड फोरम अवार्ड 2011 :  चॉईस को श्रेष्ठ ई-गवर्नेंस पोर्टल जूरी अवार्ड  
विष्वस्तरीय ई वर्ल्ड फोरम संस्था द्वारा चॉईस को श्रेष्ठ ई-गवर्नेंस पोर्टल जूरी अवार्ड दिया गया है। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के प्रसिद्व डा. एम. पी. नारायन प्रो. वी. एन. राजशेखरन पिल्ले, रवि गुप्ता सहित 11 सदस्यों के दल ने चॉईस का चयन इस पुरस्कार के लिए किया है। इस पुरस्कार के लिए चॉईस परियोजना का मुकाबला इजिप्ट के मोनोफेया पोर्टल, एम.पी. ऑनलाईन, सुगम राजस्थान तथा भारत सरकार के पोर्टल से था। ई-वर्ल्ड फोरम द्वारा शासकीय तथा समाजसेवी संस्थाओं को अवार्ड देने का मुख्य कारण लोगों में सूचना प्रौद्योगिकी के प्रति उत्सुकता जागृत करना है। यह पुरस्कार नई दिल्ली में ई-वर्ल्ड फोरम संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में दिया गया।

  इन्फरमेशन अवार्ड 2011 :ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना पुरस्कृत

सूचना प्रौद्योगिकी की विख्यात पत्रिका इंफरमेशन वीक की पहल 'एज' (इंटरप्राईजेज ड्रायविंग ग्रोथ एण्ड एक्सीलेंस EDGE) द्वारा प्रदेश की ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना को पुरस्कृत किया गया। छत्तीसगढ़ की ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना को जनरल आई.टी. श्रेणी में पुरस्कृत किया गया।  जहाँ छत्तीसगढ़ का मुकाबला ओड़िसा, बिहार, गुजरात आनंद एग्री, महराष्ट्र के एम.एच.डी.ए. आदि से था।

 कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया, निहिलेंट अवार्ड 2011 : अवार्ड ऑफ एक्सिलेंस-2010-11' के लिए छत्तीसगढ़ पुरस्कृत
छत्तीसगढ़ को ई-गवर्नेंस के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ राज्य के रुप में पुरस्कृत के किया है। वर्ष 2010-11 में राज्य में ई-गवर्नेंस के क्षेत्र में किये गये कार्यों के मूल्यांकन के आधार पर कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया-निलिहेंट द्वारा अवार्ड ऑफ एक्सिलेंस-2010-11 दिया गया है।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2010

 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का राष्ट्रीय पुरस्कार
·   02 जुलाई 2010/ गरीबों के लिए संचालित राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ को देश में प्रथम आने का गौरव मिला है। विगत दो जुलाई 2010 को चंडीगढ़ में केन्द्रीय श्रम तथा रोजगार मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यशाला में छत्तीसगढ़ सरकार को इस योजना में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के लिए भी राष्ट्रीय पुरस्कार
·   19 नवम्बर 2010/ राज्य को इसके पहले सार्वजनिक वितरण प्रणाली की ऑनलाईन सुविधा के सफल क्रियान्वयन पर केन्द्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय सम्मान गोल्ड एवार्ड से सम्मानित किया गया है। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए ई-एग्रीकल्चर और सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के बेहतर इस्तेमाल के लिए 'ई-'इंडिया एवार्ड' तथा धान खरीदी व्यवस्था के तहत सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण पर भी राज्य को केन्द्र सरकार से मिला ई-गवर्नेन्स का राष्ट्रीय पुरस्कार
·    अपनी स्थापना के विगत दस वर्ष में देश के सबसे तेज समग्र आर्थिक विकास के लिए छत्तीसगढ़ को 'इंडिया टुडे' पत्रिका द्वारा 'स्टेट ऑफ द स्टेट कॉनक्लेव 2010' के कार्यक्रम में मिला राष्ट्रीय सम्मान। उप राष्ट्रपति श्री हामिद अंसारी ने 19 नवम्बर 2010 को नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को डॉ. रमन सिंह को प्रदान किया यह सम्मान। बिजली, खनन क्षेत्रों में प्राप्त निवेश, जी.डी.पी. में हुई वृध्दि और सामाजिक आर्थिक विकास के लिए अधिक राशि के प्रावधान पर छत्तीसगढ़ को मिला यह सम्मान।

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया, निहिलेंट अवार्ड 2010 : चॉइस परियोजना को विस्तारित सेवाओं के लिए  पुरस्कार
कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया देश की प्रतिष्ठित संस्था है, जिसका निर्माण पूरे भारत में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के नामचीन प्रतिनिधियों को शामिल कर किया गया है। इस सोसायटी ने वर्ष 2009-10 में 'चॉइस परियोजना' के विस्तारित सेवाओं के लिए पुरस्कृत किया।

 

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2009

 

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया, निहिलेंट अवार्ड 2009 : भौगोलिक सूचना प्रणाली पुरस्कृत

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया देश की प्रतिष्ठित संस्था है, जिसका निर्माण पूरे भारत में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के नामचीन प्रतिनिधियों को शामिल कर किया गया है। इस सोसायटी ने वर्ष 2009 में भौगोलिक एवं सूचना प्रणाली को शासन से शासन की श्रेणी में पुरस्कृत किया।

 

 भारत सरकार ई रेडिनेस सर्वे 2009 :

 छत्तीसगढ़ विकसित राज्यों की श्रेणी में

भारत सरकार द्वारा सन 2010 में जारी ई-रेडिनेस सर्वे रिपोर्ट-2009 में छत्तीसगढ़ ने सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आंध्रप्रदेश, चंडीगढ़, कर्नाटक, गुजरात आदि राज्यों  के साथ विकसित राज्य की श्रेणी में अपनी जगह बनाई है।  भारत सरकार द्वारा वर्ष 2003 से प्रति वर्ष यह सर्वे किया जाता है। इस वर्ष से भारत सरकार ने देष के समस्त राज्यों को 'ई-गवर्नेंस* क्षेत्र में पृथक से 'विकसित', 'मध्यम', तथा 'प्राथमिक' श्रेणी में बांटा है। सूचना प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार तथा नेशनल कौंसिल आफ एप्लाईड इकानामिक रिसर्च द्वारा मूल्यांकन कर छत्तीसगढ का चयन किया गया। यह सर्वेक्षण शासकीय सेवाओं में सूचना प्रौद्योगिकी में उपयोग के आधार पर था।  छत्तीसगढ़ ने ई-गवर्नेंस परियोजनाओं यथा चॉइस, गा्रमीण चॉइस, ई-प्रोक्योरमेंट, स्वान आदि को बहुत सक्रियता के लागू किया जिसके फलस्वरूप ही छत्तीसगढ़ ने अन्य 9 राज्यों के साथ सर्वाधिक विकसित राज्य की श्रेणी में स्थान बनाया।

       

   भारत सरकार ई रेडिनेस सर्वे 2009 -10

श्रेणी      राज्यों की संख्या राज्यों के नाम
विकसित राज्य
एच-1
9 आंध्रप्रदेश, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, गुजरात, केरल, म.प्र., पंजाब, तमिलनाडू।
मध्यम राज्य
एच-2
11 दिल्ली, गोवा, हरियाणा, झारखण्ड, लक्ष्यद्वीप, महाराष्ट्र, उडि़सा, राजस्थान, उत्तर प्रदेष, उत्तराखण्ड, प.बंगाल।
प्राथमिक राज्य
एच-3
15 अण्डमान एवं निकोबार, अरूणाचल प्रदेष, आसाम, बिहार, दादर एवं नगर हवेली, दमन, हिमाचल-प्रदेष, जम्मू-काष्मीर, मणीपुर, मघालय, मिजोरम, नागालैण्ड, पांडिचेरी, सिक्किम, त्रिपुरा।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2008

 

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया, निहिलेंट : चार में से तीन श्रेणियों में पुरस्कार

कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया देश की प्रतिष्ठित संस्था है, जिसका निर्माण पूरे भारत में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के नामचीन प्रतिनिधियों को शामिल कर किया गया है। इस सोसायटी ने वर्ष 2008 में छत्तीसगढ़ को चार में से तीन श्रेणियों में पुरस्कृत किया है।  छत्तीसगढ़ को यह पुरस्कार ''सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नड राज्य'' ''सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नड विभाग में खाद्य विभाग'' तथा ''सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नड परियोजना में ई-प्रोक्योरमेंट परियोजना'' छत्तीसगढ़ को मिला।  नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अमन सिंह ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।  2009 में कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया तथ निहिलेंट इंडिया द्वारा भौगोलिक सूचना प्रणाली परियोजना को पुरस्कृत किया गया।  यह पुरस्कार योजना के तहत उपलब्ध डाटा का नागरिक सेवाओं  की प्रदायगी में सर्वश्रेष्ठ उपयोग के लिए दिया गया है।

 एक्सिलेंस ऑफ जियोस्पेशल यूजेस अवार्ड 2008:- भौगोलिक सूचना प्रणाली परियोजना को पुरस्कार
28 अप्रेल 2008/ छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित भौगोलिक सूचना प्रणाली परियोजना के डाटा का पूरे देश में उत्कृष्ठ तथा सार्वाधिक प्रयोग के लिए चिप्स के तात्कालिक मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अमन सिंह को पुरस्कृत किया गया।  28 अप्रेल 2008 को केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री कपिल सिब्बल ने नई दिल्ली में आयोजित एक गरिमामयी कार्यक्रम में यह पुरस्कृत प्रदान किया।  मेजर जनरल आर.एस. तंवर, महानिदेशक सर्वे ऑफ इंडिया, श्री के.आर. श्रीधर मूर्ति, प्रबंध संचालक अंतरिक्ष कार्पोरेशन, श्री आर. शिवा, डा. वी जयरामन निदेशक इसरो, श्री राजेश माथुर, अध्यक्ष इसरी इंडिया तथा प्रोफेसर एन.एल. सारडा, आय.आय.टी. मुम्बई की पांच सदस्यी जूरी ने कार्य करने वाली संस्थान की नीति, अधोसंरचना, सेवा देने का तरीका, प्रदान की गई सेवाएं, सामाजिक लाभ आदि का मूल्यांकन कर इस पुरस्कार के चयन लिए किया।  छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जिसने 20 हजार से अधिक गांवों का 37 लेयर्स पर भौगोलिक सूचना प्रणाली तैयार की है। इस प्रणाली के आधार पर राज्य के भू-स्वामियों की सुविधा के लिए समस्त पटवारियों को नक्शे की सॉफ्ट तथा हार्डकॉपी दी गयी है तथा इस प्रणाली का उपयोग योजना निर्माण हेतु सहायक टुल्स विकसित करने हेतु किया जा रहा है।

  'द वर्ल्ड इस ओपन अवार्ड 2008':- चॉइस परियोजन को पुरस्कार

ओपन सोर्स पर देश की सबसे वृहदतम् 'चॉइस परियोजना' को स्कॉच इंटरनेशनल तथा रेडहट द्वारा भारत में ओपन सोर्स पर संचालित सर्वश्रेष्ठ परियोजना मानते हुए यह पुरस्कार दिया।  श्री अमन सिंह ने सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की मशहूर रेडहंट कंपनी के एशिया पेसेफिक जोन के अध्यक्ष श्री गैरी मसन से यह पुरस्कार नई दिल्ली में आयोजित रंगारंग कार्यक्रम में प्राप्त किया। इस पुरस्कार के लिए देश भर से कुल 163 नामांकन प्राप्त हुए थे। जिनमें से 85 नामांकन सरकारी क्षेत्र के थे।  39 को ज्यूरी सदस्यों ने विभिन्न श्रेणियों में चयनित किया।  ई-गर्वनेंस के क्षेत्र में नागरिकों को सशक्त करने में तथा नागरिक सेवाओं की प्रदायगी में सर्वाधिक प्रभावशाली परियोजना के रूप में छत्तीसगढ़ के चॉइस परियोजना को पुरस्कृत किया गया।

 

राष्ट्रीय पुरस्कार -2007

भारत सरकार ई रेडिनेस सर्वे 2007 :  छत्तीसगढ़ सर्वाधिक  उपयोगकर्ताओं की श्रेणी में
भारत सरकार द्वारा सन 2008 में जारी ई रेडिनेस सर्वे रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ ने सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में ऊंची छलांग लगाते हुए उपयोगकर्ताओं की श्रेणी में चंडीगढ़, दिल्ली, कर्नाटक के साथ अपनी जगह बनाई। इस सर्वे में देश के समस्त राज्यों को नेतृत्वकर्ता राज्य, प्रेरक राज्य] अग्रसर राज्य] औसत राज्य] औसत से कम तथा निम्न श्रेणी में बांटा गया।  उपयोगकर्ता का सर्वेक्षण व्यक्तिगत, व्यवसायिक एवं शासकीय सेवाओं में सूचना प्रौद्योगिकी में उपयोग के आधार पर था।  छत्तीसगढ़ ने ई-गवर्नेंस परियोजनाओं बहुत सक्रियता के लागू किया जिसके फलस्वरूप ही छत्तीसगढ़ आंध्रप्रदेश, तमिलनाडू, केरल पंजाब जैसे राज्यों को पीछे छोड़ते हुए सर्वाधिक उपयोगकर्ता की श्रेणी में स्थान बनाया।

चॉइस परियोजना :  अंतर्राष्ट्रीय स्कॉच माइक्रोसाफ्ट चैलेन्जर अवार्ड 2007

16 मार्च 2007/ नई दिल्ली के हेबिटेट सेंटर में दिनांक 16 मार्च 2007 को आयोजित कार्यक्रम में चिप्स को यह पुरस्कार दिया गया। चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अमन सिंह ने पुरस्कार ग्रहण किया। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त संस्था स्कॉच इंटरनेशनल द्वारा यह सम्मान देश में शिक्षा, सामाजिक सेवा, नागरिक सेवा, सार्वजनिक-निजी सहभागिता, ग्रामीण विकास एवं नई तकनीकों के प्रयोग में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्य को दिया जाता है। इस कार्यक्रम में तात्कालिक वित्त मंत्री श्री पी. चिदम्बरम के अलावा केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री डा. रघुवंश प्रताप सिंह, डा. सी रंगराजन, श्री मणिशंकर अय्यर तथा श्री मोंटेक सिंह अहलुवालिया तथा अनेक सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।  चॉइस परियोजना को देश में नागरिक सेवाओं की प्रदायगी के लिए श्रेष्ठ माना गया।  आई.आई.टी. मुम्बई के प्रोफेसर डी.बी.पाठक की अध्यक्षता में बनी समिति ने स्कॉच संस्था द्वारा तैयार चॉइस डाक्यूमेंटरी तथा श्री अमन सिंह द्वारा दिये गये प्रस्तुतीकरण के आधार पर चॉइस का चयन किया। इस अवार्ड की समिति ने माना कि छत्तीसगढ़ में कम्प्यूटर साक्षरता ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रही है।

 अंतर्राष्ट्रीय डेटा कार्पोरेशन तथा डेटा क्वेस्ट सर्वे 2007 :  छत्तीसगढ़ को देश में तीसरा स्थान

अंतर्राष्ट्रीय डेटा कार्पोरेशन सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त संस्था है, जो विभिन्न देशों में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों आई.टी. कम्पनियों का प्रर्दशन, बिक्री तथा भविष्य में आने वाली नई तकनीकों के आंकलन के आधार पर रैकिंग का निर्धारण करती है। भारत में विभिन्न राज्यों द्वारा ई-गवर्नेंस गतिविधियों का संचालन जन साधारण तथा व्यवसायिक संगठनों पर उसका प्रभाव, लाभ आदि के आधार पर रैकिंग तय की गयी है। सन् 2006 के रैकिंग में छत्तीसगढ़ को 14वां स्थान प्राप्त था जबकि 2008 को जारी इस रैकिंग में वर्ष 2007 के लिए छत्तीसगढ़ को तीसरा स्थान दिया गया। जबकि तमिलनाडू जैसे विकसित राज्य को इस सर्वे में चौथा स्थान मिला है। इस सर्वें में छत्तीसगढ़ के चॉइस, भौगोलिक सूचना प्रणाली, ई-प्रोक्योरमेंट, ई-कोष आदि परियोजनाओं के अन्तर्गत किये गये कार्यों का विशेष उल्लेख किया गया है।

संयुक्त राष्ट्र पुरस्कार :  ''मानव विकास प्रतिवेदन'' को विश्व स्तरीय सम्मान-19 जून 2007

माननीय मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह द्वारा दिसम्बर 2005 में लोकार्पित छत्तीसगढ़ के पहले ''मानव विकास प्रतिवेदन'' को यू.एन.डी.पी. द्वारा वर्ष 2007 के लिए 'सहभागिता एवं क्षमता विकास' की श्रेणी में सर्वोच्च पुरस्कार दिया गया।  यह पुरस्कार न्यूयार्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में प्रदान किया गया। दक्षिण एशियाई देशों में छत्तीसगढ़ एक मात्र राज्य था जिसे पुरस्कार मिला।  इस साल कुल 39 देशों से प्राप्त 50 नामांकनों में छत्तीसगढ़ का चयन हुआ। प्रतिवेदन तैयार करने के लिए छत्तीसगढ़ में सबसे अनूठी प्रक्रिया अपनाई गई जहाँ विकास कारकों को मापने के लिए स्वास्थ्य्, शिक्षा एवं आय आंकड़ों के साथ ग्रामीण्ो के सहयोग से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर प्रतिवेदन तैयार किया गया।